सफलता के लिए 4 छोटी -छोटी बातें मगर बहुत काम की बाते

सुबह पर अपना कब्ज़ा कर ले –

अधिकतर सफल लोगो की ये पहली प्राथमिकता रहती है की सुबह जल्दी उठे जल्दी उठने से हमारे दिमाग में कोई नकारात्मक सोच नहीं रहती साथ ही अच्छे विचार दिमाग में आते है सुबह सुबह दिमाग चिंता और तनाव से दूर रहता है कोई भी कार्य जल्दी और अच्छे से होता है

जहा कम सफल लोग सोते है वही सफल लोग रोज़ अपने नये-नये इरादों के साथ आगे बढते चले जाते है. जब दुसरे लोग विदेशो में घूम रहे होते है तब ऐसे लोग दिन-रात काम करते है. जब आप सुबह के समय अपने द्वारा लिए गए निर्णय को कुछ समय बाद झपकी का अलार्म दबाते हो, तो आपके लिये सफल बनना और भी मुश्किल होता जायेंगा.

सुबह के समय जल्दी उठकर पुरी सुबह को ही अपने कब्जे में कर ले, ताकि आप अच्छे से अच्छा काम कर सको. एक स्वस्थ नाश्ते की तरह अपने शरीर को बनाये और एक अच्छी किताब की तरह अपने मस्तिष्क को बनाये. जब दुनिया में बाकी लोग पलंग पर आराम कर रहे होते है तभी आपको अपने ये सारे काम कर लेने चाहिये. और सुबह को अपने कब्जे में कर लेना चाहिये.

असफलता को स्वीकार करे –

असफलता एक चुनौती है. सहजता और  मजबूत इरादों से हमें इस चुनौती का  डट कर मुकाबला  करना चाहिए .

असफलता निश्चित ही मुश्किल होती है, लेकिन हर कोई जिंदगी में असफल नही बनना चाहता. कई बार सफल इंसान भी सफलता के रास्ते में असफल होते है, लेकिन वे भावनाओ में बहकर वही रुक नही जाते. बल्कि वे तो असफलता से सीखते है.

सफलता और असफलता एक  ही सिक्के के दो पहलू हैं जहां सफलता हमें बहुत कुछ सीखा जाती हैं वही असफलता भी हमे उससे भी कही ज्यादा सीखा कर जाती है बशर्ते हम दिल छोटा न करे और अपनी सोच नकारात्मक न रखें. एकाग्रता बढाए और सबसे ज्यादा जरुरी समय के मह्त्व को समझना है. कार्य करते रहें और जी जान से करते रहें.

असफलता उन्हें सिखाती है की उन्हें अपने प्रदर्शन में क्या बदलाव करने चाहिये, कहा सुधार करना चाहिये, और असफलता से ही सीखकर वे दोबारा उस गलती को नही दोहराते जो उन्होंने पहले की थी.

मुश्किल कामो को करने की कोशिश करे –

वैसे तो इस दुनिया में कोई भी काम मुश्किल नहीं है पर जब भी आपके सामने कोई काम आए और आपको लगे की ये तो बहुत मुश्किल है तो घबराइए नहीं उसे करने की कोशिश करे उसे आसन बनाने की कोशिश करे क्यूंकि अगर वो काम पहले भी किसी ने किया है तो आप भी कर सकते है

जहा दुनिया में लोग सबसे सरल, तेज़ और आसान रास्ता अपनाकर सफल बनना चाहते है वही आपने मुश्किल से मुश्किल रास्तो को अपनाकर सफल बनने की कोशिश करनी चाहिये. मुश्किलों से दूर भागकर आप अपनी सफलता को खुद से और भी दुर भेजते चले जाते हो. आपको कंधे से कंधा मिलाकर सफलता के रास्ते में आने वाली मुश्किलों का सामना करना चाहिये. आँख से आँख मिलाकर आने वाली मुश्किलों का सामना करना चाहिये.
और हमेशा यही सोचना चाहिये की आप कोई भी मुश्किल से मुश्किल काम कर सकते हो.

हमेशा धैर्य रखे –

ये बात जान ले की सफलता कोई दुकान में नहीं मिलती उसके लिए कठिन परिश्रम करना पढता है इसलिय अपना लक्ष्य स्थापित करे और काम मै लग जाय धैर्य के साथ अच्छी बाते या चीजे उन्ही के रास्तो में आती है जो सब्र करते है, और सफल व्यक्ति इस बात को अच्छी तरह जानते है. एक ही रात में सफलता बहोत ही कम लोगो को प्राप्त होती है और एक समाधानी सफलता वर्षो के कठिन परीश्रम के बाद प्राप्त होती है. इसीलिए हमेशा धैर्य रखे, हमेशा आगे बढ़ने में ही ध्यान केन्द्रित करे और अपनी आँखे मिलने वाले पुरस्कार पर रखे.

और भी अच्छी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे-www.srexpress.in

रतन टाटा के 10 अनमोल विचार-जरूर पढ़ें

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *