paytm success story

If you want to achieve greatness stop asking for permission.To live a creative life, we must lose our fear of being wrong.If you are not willing to risk the usual you will have to settle for the ordinary.

                   Paytm story of success

ऐसी ही सोच के धनी है PAYTM के फाउंडर मि. विजय शेखर शर्मा

मि. विजय का बचपन अलीगढ में बीता वह हमेशा अपनी क्लास के TOPPER रहते थे 14 की उम्र में उन्होंने अपना 12TH पूरा कर लिया था और आगे की पढ़ाई के लिए दिल्ली चले गए

दिल्ली में उन्होंने इंजीनियरिंग डिग्री कॉलेज में एडमिशन लिया चुकी उन्होंने अपना स्कूल हिंदी माध्यम से पूरा किया इसलिए वे ना तो इंग्लिश बोलने में सक्षम थे और ना ही समझने में मि. विजय अपने उन सभी टीचर से डरते थे जो इंग्लिश में सवाल करते थे इसलिए वे क्लास में हमेशा पीछे की बेंच पर बैठा करते थे वे अपना अधिकतर समय कंप्यूटर लैब में बिताया करते थे पर धीरे धीरे वे समझ गए की अगर जीवन में सफल होना हे तो इंग्लिश भाषा सीखना बहुत जरुरी है इसलिए वे अपने साथ इंग्लिश dictionary  रखना शुरू कर दिया उन्होंने पत्रिका, समाचार पत्र, कॉमिक्स पढ़ना शुरू कर दिया और अपने वरिष्ठों से कुछ मदद ली और उन्होंने अपनी अधिकांश अंग्रेजी में सुधार किया।

START-UP:-

सन 2001 में उन्होंने खुदकी कंपनी बनाई और नाम रखा ONE97

कंपनी दिन प्रतिदिन बढ़ने लगी और खर्चा भी बढ़ने लगा इसलिए मि. विजय ने बैंक से हाई ब्याज दर पर लोन लिया

  1. कंपनी से जो भी कमाई होती उसमे से अधिकतर बैंक लोन, कर्मचारियों को वेतन देने में ही चली जाती इन सबका भुकतान करने के बाद उनके पास कुछ नहीं बचता इसलिए वे घर का किराया भरने में भी असमर्थ थे इसलिए मकान मालिक से बचने के लिए वे देर रात तक काम करते व सुबह जल्दी निकल जाते की मकान मालिक से सामना ना करना पढ़े दिन प्रतिदिन वे आथिक रूप से अधिक कमजोर होते जा रहे थे उनके पास खाने के लिए भी पर्याप्त पैसे नहीं बचते थे इसलिए वे अपने दोस्त के घर पर जाया करते थे जिससे उन्हें कुछ खाने को मिल जाए उनके लिए वह समय बहुत ही बुरा निकल रहा था थोड़े से पैसे बचाने के लिए वह अपना ऑफिस पैदल जाया करते थे बहुत बार तो ऐसा होता था कि वह दिन भर में सिर्फ दो कप चाय ही पी पाते थे और फिर उन्होंने डिसाइड किया कि वह कोई पार्ट टाइम जॉब करेंगे जिससे कि वह अपना रोज का खर्चा निकाल सकें और  जब वे 26 साल के हुए तो उनके घर वालों को उनकी शादी की चिंता सताने लगी मिस्टर विजय के पिताजी उनसे कहा करते थे कि बेटा यह कंपनी बंद करके कोई जॉब कर ले कम से कम ₹20000 महीना तो मिलेगा और यही वह समय था जब वह बहुत अपसेट हो गए क्योंकि एक तरफ तो उनके पिताजी उनसे कोई जॉब ढूंढने की बोल रहे थे और दूसरी तरफ उन्हें यह चिंता थी कि उनकी कंपनी घाटे में ना चले जाए या बंद ना हो जाए और इसी बीच मिस्टर विजय जहां ट्रेनिंग दिया करते थे वहां उनकी मुलाकात मिस्टर पीयूष अग्रवाल से हुई जिन्होंने मिस्टर विजय की कंपनी में ₹800000 इन्वेस्ट किए

Launching of paytm:

In year 2010 one 97 communication launched paytm (Pay through mobile system). Paytm wins title sponsorship rights for Indian cricket for 4 years. Today Ratan Tata, Jack Ma invests in paytm.

Current Status of paytm:

  1. 122 Million users
  2. 130 Million wallet users
  3. 90 Million monthly users

Source:-somethingpik.com

Open this:-रतन टाटा के 10 अनमोल विचार-जरूर पढ़ें
loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *